Thursday, 15 December 2016

किरदार महकना चाहिए - मुक्ता

किरदार कैसा हो ?
मौसम बदल रहा है| वैसे तो सर्दियां हमेशा ही बहुत पसंद होती है लेकिन टहनियों पर खिले खूबसूरत फूलों से मुझे बेहद लगाव है | ऐसा लगता है कुदरत ने सारे खूबसूरत रंग फूलों में डाल दिए हो ताकि दुनिया सुन्दर लग सके |







ऑफिस के बहार एक गार्डन है और इस गार्डन में वैसे तो सफ़ेद और बैंगनी रंग के ये फूल काफी समय से लगे है , लेकिन कल अचानक उन पर ध्यान भी गया और उतनी ही जल्दी लगाव भी हो गया | लगाव चाहे किसी चीज से हो,जगह से हो या किसी शख्स से, उसके बारे में मुझे सब कुछ जानना होता है | जब तक पता ना चले खुद परेशान होती हूँ  और दूसरों को भी कर देती है | कैंटीन में आए शायद हर शख्स से मैंने उन फूलों का नाम पूछा | सब के जवाब बड़े मजेदार थे और शायद उनके जवाब ही उनके बारे में भी बता रहे थे | जैसे एक एंकर ने जवाब थी ये सन फ्लावर  (sun flower ) तो नहीं है , हंसी का फव्वारा छूटा और फिर उसी पर जवाब चमेली का भी नहीं है मुक्ता और रोज तो बिलकुल भी नहीं है !  एक दोस्त का जवाब जो सबसे अच्छा लगा ये एक खूबसूरत फ्लावर है |  जवाब से संतुष्टि नहीं मिली पर ख़ुशी जरूर हुई | इस बात की दुनिया में पाजिटिविटी है ,आज भी लोग किसी की उलझन का आसान जवाब दे सकते है | वरना दुनिया में बातें इतनी घुमा- फिरा कर की जाती है कि मेरे तो समझ से परे है | पूरा एक दिन गुजर गया , खूब जद्दोजहद के बाद भी नाम पता नहीं चला | पर ज़िद्द तो ज़िद्द थी कोई चीज मुझे पसंद आयी और नाम पता नहीं चले ऐसे कैसे हो सकता है |
गार्डन में गयी उन सुन्दर फूलों को तोड़ने की इजाजत मांगी और फिर अपना वही एक दिन से चला रहा सवाल इस फ्लावर का नाम क्या है

वहां से भी मुझे निराशा ही मिली | लेकिन अब मेरी पसंद की चीज मेरे हाथ में थी | वो फूल सुन्दर तो थे लेकिन खुशबूदार नहीं थे
अचानक ही मन में सवाल आया , क्या जरूरी होता है हमारे किरदार के लिए खूबसूरती या खुशबु ?   मेरे साथ एक अच्छी बात है जब सवाल उठाती हूँ  तो जवाब भी ढूंढ लेती हूँ |


खूबसूरती जरूरी नहीं होती क्योंकि फूलों की तरह वो भी मुरझा जाती है लेकिन जरूरी होता है कि आपके किरदार में खुशबु हो ,क्योंकि वो मिटती नहीं है और हमेशा याद रखी जाती है | ज़िन्दगी में कई बार खूबसूरत लोग पसंद आए , लेकिन आखिर में मुझे भी खुशबूदार किरदार ही चाहिए क्योंकि मैं  ना तो मुरझाएं हुए फूल पसंद करती हूँ  ना ही लोग | मैं  हमेशा से याद रखना चाहती हूँ  किरदार की खुशबु |

खैर मेरी इस ज़िद्द में मेरा साथ देने वाले लोगों का शुक्रिया जिन्होंने उन फूलों का नाम जानने में  मेरी मदद की| Google Images  के लिए बाबा यानी एडिटिंग टीम के हेड तेजकरण सर ने अपनी फोटोग्राफी स्किल्स से खूबसूरत फोटो ली और जयश्री दी ने नाम पता किया | हालांकि की ये सुनने को जरूर मिला पागल लड़की अब मेरा दिमाग मत खाना | पर अगर ज़िन्दगी की गहरी बातें फूलों का नाम से जानने से पता लग जाएं तो मैं  ज़िन्दगी भर लोगों का दिमाग खाती रहूंगी | उन खूबसूरत फ्लावर्स का नाम बेल फ्लावर्स है | देखने पर आपको पसंद आयेंगें लेकिन खुशबु नहीं मिलेगी तो मन उदास हो जाएगा |

ज़िन्दगी भी कुछ ऐसी ही है | खूबसूरत लोगों की खूबसूरती भी फीकी हो जाती है अगर किरदार खुशबूदार ना हो तो |

                                                            
                                         
                                                                                       -----------  मुक्ता भावसार 

Pic Courtesy - Tejkaran Sir