Wednesday, 23 November 2016

Dear Zindagi - मुक्ता

डिअर, ज़िन्दगी तुम्हारे जाने के बाद
शायद उतनी डिअर ना रहे
पर फिर भी में खुश हूँ  
मैंने  अपने सारे वादे निभाएं और 
तुमने ज़िन्दगी को डिअर कहने की कई वजह दी
तुम्हारा साथ
हमारी हर मुलाकात 
टूट कर एक दूसरे को चाहना
रूठना और मनाना
छोड़ कर चले जाना
और हर बार लौट कर आना
यकीनन हम अब साथ नहीं
लेकिन तुम मेरे लिए हमेशा डिअर रहोगे

और हां हमेशा मेरी ज़िन्दगी भी|
      
                   ----- मुक्ता भावसार