Friday, 18 November 2016

फैसला तुम्हारा ज़िन्दगी मेरी - मुक्ता

साथ निभाना भी तुम्हारे हाथ में है
छोड़ कर जाना भी तुम्हारे हाथ में है
मेरे भरोसे को गलती बनाना भी तुम्हारे हाथ में है
ज़िन्दगी को बस तेरे फैसले का इंतजार है
लौट कर आना भी मंजूर
छोड़ कर जाना भी स्वीकार है
मेरे भरोसे को गलती बनाना भी तुम्हारे हाथ में है
ज़िन्दगी हंसी जब हाथों में तुम्हारा हाथ
सफर सुहाना जब मिले तुम्हारा साथ
चेहरे की मुस्कुराहट और आंखों की नमी भी तुम्हारे हाथ में है
तुम्हारी हिम्मत मेरी किस्मत
हिम्मत दिखाना भी तुम्हारे हाथ में
हार जाना भी तुम्हारे हाथ में है
मेरे भरोसे को गलती बनाना भी तुम्हारे हाथ में है

                                       -----मुक्ता भावसार